Uday's Blog


Browsing Archive: August, 2009

सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

Posted by Uday Shankar on Tuesday, August 18, 2009, In : Shayri 
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है
(ऐ वतन,) करता नहीं क्यूँ दूसरा कुछ बातचीत,
देखता हूँ मैं जिसे वो चुप तेरी महफ़िल में है
ऐ शहीद-ए-मुल्क-ओ-मिल्लत, मैं ...

Continue reading ...
 

कभी कभी मेरे दिल मैं ख्याल आता हैं

Posted by Uday Shankar on Tuesday, August 18, 2009, In : Shayri 
कभी कभी मेरे दिल मैं ख्याल आता हैं
कि ज़िंदगी तेरी जुल्फों कि नर्म छांव मैं गुजरने पाती
तो शादाब हो भी सकती थी।

यह रंज-ओ-ग़म कि सियाही जो दिल पे छाई हैं
तेरी नज़र कि शुओं मैं खो भी सकती थी।

मगर यह ह...

Continue reading ...
 
 

About Me

Uday Shankar
Bangalore
Uday Shankar
Make a Free Website with Yola.